Thu. Jul 18th, 2024

ऑक्टागन बिल्डर्स की धोखाधड़ी वाले मामले में गठित की एसआईटी

आलीशान टाउनशिप में घर बनाने के दिखाते थे सपने

हरिद्वार। अपनी गाढ़ी मेहनत की कमाई से हरिद्वार की शानदार लोकेशन पर प्लॉट खरीद कर अपना आशियाना तैयार करने की योजना बना रहे लोगों को सुहाने सपने दिखाकर ठगने के लिए कुख्यात ऑक्टागन बिल्डर्स पर हरिद्वार पुलिस की तिरछी नजर एक बड़े जनसमुदाय के लिए उम्मीद की किरण साबित हुई है। बीते माह संबंधित गैंग के लीडर कुलदीप नन्दराजोग और उसकी सहयोगी महिला अंजली त्यागी के हरिद्वार पुलिस के गिरफ्त में आने के बाद अनेक व्यक्तियों द्वारा स्वयं को ठगी का शिकार बताते हुए, पुलिस कप्तान प्रमेन्द्र डोबाल से भेंट कर, अपनी शिकायतें रखी थी। जिनमें समय-समय पर मुकदमें दर्ज किए गए थे। प्रथम दृष्टया गैंग द्वारा लोगों से कई सौ करोड रुपए की धोखाधडी किये जाने का पता चला, जिसमें बाद में और मामले सामने आने पर कई मुकदमे दर्ज हुए, इन सब मामलों की विस्तृत जांच अब SIT द्वारा की जाएगी। गैंग में लीडर कुलदीप के अतिरिक्त सतपाल नन्दराजोग,अंजली त्यागी, संजीव गुप्ता, सौरभ गाँधी सक्रिय सदस्य रहे हैं। ऑक्टागन बिल्डर प्रमोटर्स के निदेशक कुलदीप नंदराज जोग एवं अन्य साथियों द्वारा जमीन बेचने के नाम पर थाना बहादराबाद में पंजीकृत धोखाधड़ी एवं गैंगस्टर एक्ट के अंतर्गत पंजीकृत मामलों के 1 महीने के अंदर सफल निस्तारण के लिए एसपी क्राइम अजय गणपति के नेतृत्व में SIT का गठन किया गया है। पूरे राज्य में चर्चित ठगी के इस बड़े मामले में लगातार मिल रही नई शिकायतों का संज्ञान लेते हुए एसएसपी प्रमेन्द्र डोबाल द्वारा हर राज से पर्दा उठाने के लिए एसआईटी गठित की गई है। बतौर एसपी क्राइम/ट्रैफिक जिले में तैनात आईपीएस अजय गणपति कुम्भार के नेतृत्व में टीम ने 1 राजपत्रित अधिकारी, 1 निरीक्षक सहित कुल 11 सदस्यों को इसमें शामिल किया गया है। एसएसपी प्रमेन्द्र डोबाल का कहना है कि काफी बड़े स्तर पर मासूम लोगों के साथ धोखाधड़ी हुई है हम इस पूरे मामले की गहराई से पड़ताल करना चाहते हैं। मैंने एसआईटी टीम को 1 महीने के अंदर जांच पूरी करने का समय दिया है। हम धोखे के शिकार हुए सभी लोगों को उचित न्याय दिलाना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *