Fri. Jun 21st, 2024

सुनवाई तक मुकदमों की नहीं कर सकेंगे पैरवी

देहरादून। जमीन रजिस्ट्री फर्जीवाड़ा मामले में एसआईटी की लगातार जांच चल रही है। एसआईटी की जांच में सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता (राजस्व) सुरेश चंद्र शर्मा का नाम भी सामने आ रहा है। सुरेश चंद्र शर्मा पर लगे आरोपों के आधार पर न्याय विभाग में सुनवाई की जाएगी और तब तक उनका कार्य जिला शासकीय अधिवक्ता को सौंपा गया है।
023 जुलाई में देहरादून में रजिस्ट्री फर्जीवाड़ा का खुलासा हुआ था। खुलासा होने के बाद स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने जांच के दौरान अब तक दो अधिवक्ता समेत 13 आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई कर चुकी है। अब तक मामले में 19 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। एसआईटी ने कई भू-माफियाओं को भी रडार पर लिया है। एसआईटी की जांच गतिमान है। जांच में धीरे-धीरे अन्य कई नाम भी सामने आ रहे हैं। खरीद फरोख्त का फर्जीवाड़ा मामला सामने आने पर रजिस्ट्रार कार्यालय के सहायक महानिरीक्षक निबंधन संदीप श्रीवास्तव द्वारा कोतवाली नगर देहरादून में कई मुकदमे दर्ज कराए हैं।
 अब एसआईटी की जांच में अब सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता (राजस्व) सुरेश चंद्र शर्मा पर भी गंभीर आरोप लगे हैं। इसे लेकर एसआईटी प्रभारी एसपी ट्रैफिक सर्वेश पंवार ने न्याय विभाग को पत्र लिखा है। संयुक्त सचिव न्याय एवं संयुक्त विधि परामर्शी अशोक कुमार ने बताया कि सुरेश चंद्र शर्मा पर गंभीर आरोप लगे हैं, जिस पर सुनवाई की जाएगी। जब तक सुनवाई चलेगी, तब तक वे मुकदमों की पैरवी नहीं कर सकेंगे। साथ ही जिला मुख्यालय में अन्य कोई सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता राजस्व के पद पर न होने के कारण जिला शासकीय अधिवक्ता नितिन वशिष्ठ को ही सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता का कार्य सौंपा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *