Mon. Apr 22nd, 2024

लाखों का वॉटरप्रूफ जर्मन हेंगर टेंट भी नहीं आ सका जायरीनों के काम

पिरान कलियर। साबिर पाक का सालाना उर्स शुरू होने से पहले ही बारिश ने प्रशासन के इंतजामों की पोल खोलकर रख दी है। दरग़ाह कार्यालय के सामने जायरीनों के लिए लगाया गया वॉटरप्रूफ जर्मन हेंगर टेंट जायरिनों के किसी का काम नही हैं। केवल बजट खर्ची का साधन बना है। लेकिन उसमें जायरीन नही रुक सकते।
दरगाह साबिर पाक का 755 वां सालाना उर्स शुरू हो गया है। मेले में जायरीनों की भारी भीड़ आती है जिनके लिए प्रशासन इंतजाम में जुटा है। वहीं प्रशासन ने जायरीनों को बारिश से बचाव की व्यवस्था के लिए लाखों रुपये में वाटरप्रूफ जर्मन हेंगर का टेंट लगाए हैं। बारिश होने पर दरगाह कार्यालय के सामने लाखों रुपए की लागत से लगाया गया जर्मन हेंगर टेंट में उपर आसमान से आने वाला बारिश का पानी तो रोक दिया है। लेकिन इधर उधर से बहकर आने वाला पानी टेंट के नीचे जमा हो गया। जिस कारण जायरीन वहां लेट या बैठ नही पाए और जायरीनों को खड़े होकर बारिश से अपना बचाव करना पड़ा। वही दूसरी और साबरी मेहमान खाना जायरिनों के लिए बंद किया हुआ है। मेहमान खाने के बेसमेंट में पानी भरा हुआ है। मेहमान खाने में भरा पानी बीमारियों को न्योता दे रहा है। उसमे मक्खी मच्छर पैदा हो रहे हैं।और मेहमान खाने के ऊपरी तल पर ताला लगा होने के कारण जायरीन बारिश से बचने के लिए इधर उधर दौड़ लगाते नजर आए। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अभिनव शाह ने बताया कि मेहमान खाने में भरे हुए पानी को निकलवा दिया जाएगा। जर्मन हेंगर टेंट का मौका मुआयना कर जायरिनों के बैठने और लेटने की व्यवस्था लिए जो होगा वह किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *