Mon. Apr 22nd, 2024

संस्थान के 116 छात्रों को दी गई उपाधियां
राज्यपाल गुरमीत सिंह रहे मौजूद
श्रीनगर। एनआईटी उत्तराखंड का चैथा दीक्षांत समारोह आज बड़ी धूमधाम के साथ मनाया गया। राज्यपाल गुरमीत सिंह ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। दीक्षांत समारोह में कुल 116 छात्रों को उपाधियां दी गई। जिसमें 90 बीटेक, 13 एमटेक और 12 पीएचडी के छात्र शामिल थे। वहीं, बीटेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग के छात्र रोहित सिंह नेगी को सभी क्षेत्रों में उत्कृष्ट उपलब्धियां हासिल करने पर निदेशक गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया।
बीटेक के 5 छात्रों और एमटेक के 4 छात्रों को संबंधित विभाग में सर्वाधिक सीजीपीए अर्जित करने के लिए स्वर्ण पदक से सम्मानित किया गया। इस वर्ष पहली बार राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत एक छात्र को डिप्लोमा की डिग्री दी गई। इसी बीच राज्यपाल गुरमीत सिंह ने कहा कि इस अवसर पर डिग्री और मेडल लेने आए विद्यार्थियों में एक अलग ही उत्साह दिख रहा है, जोकि बहुत ही अहम है। उन्होंने उपाधी लेने वाले छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि सफलता के शिखर को छूने के बाद भी उन्हें अपने माता-पिता, गुरूजन और साथियों को भूलना नहीं चाहिए।

राज्यपाल ने विद्यार्थियों को हमेशा आगे बढ़ने की दी सलाह
 राज्यपाल ने विद्यार्थियों से कहा कि दीक्षांत समारोह एक महोत्सव की तरह होता है। इस महोत्सव में आप सपने देखिए और संकल्प लिजिए कि आपको राष्ट्र में तकनीकी क्रांति लानी है। टेक्नोक्रेट के रूप में आपके पास श्टेक्नोलॉजी लीडरश् बनने की क्षमता है। अपने तकनीकी कौशल को मूर्त रूप दें, ताकि आप हमेशा दुनिया का नेतृत्व कर सकें।

सुमाड़ी में स्थायी परिसर की निविदा प्रक्रिया पूरी
एनआईटी उत्तराखंड के निदेशक प्रो। अवस्थी ने सुमाड़ी में स्थायी परिसर के निर्माण के बारे में बताया कि निर्माण कार्य की निविदा प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। परिसर का पहला चरण 60 एकड़ की भूमि पर 1260 छात्रों को समायोजित करने के लिए निर्माण कार्य किया जाएगा, जिसकी अनुमानित लागत 650।85 करोड़ रुपये है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *