Wed. Jul 17th, 2024

देहरादून। पुरानी मॉडल की मर्सडीज कार के नई मॉडल के दस्तावेज तैयार कर खरीदा से ठगी करने के आरोप में मर्सडीज बैंज के मैनेजिंग डारेक्टर, सीईओ संतोष अय्यर, डायरेक्टर एम.डी. चेयरमैन एवं अधिकारी बारक्ले मोटर्स लिमिटेड मोहब्बेवाला इन्डस्ट्रीयल एरिया सुभाष नगर चौक के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है।
प्रकाश तिवारी पुत्र रामजी प्रसाद तिवारी निवासी सी 33, सी. लेन नं० 7, बंसल होम, दून एनक्लेव, देहरादून ने एक थाना पटलेनगर में एक शिकायती पत्र देते हुए बताया कि उसे नई मॉडल की गाडी रखने का शौक है। उसने मर्सडीज बैन्स गाडी का नया मॉडल वर्ष 2023 में जो कम्पनी ने निर्मित करके लॉन्च किया गया, उसे खरीदने के लिए वह मर्सडीज के देहरादून ऑफिस, के शौरूम पर गया। आरोपी मर्सडीज बैन्स इंडिया एक विश्वसनीय ब्राण्ड होने के नाते नाम अर्जित किया है। वर्ष 2022 में वादी ने अपनी पहली गाडी स्कोडा रेपिड कार जिसका रजिस्ट्रेशन नम्बर एचपी 38 जी 1194 का शोरूम में अंकन (सात लाख पैतीस हजार रूपये हुए नई मर्सडीज लेगोसिन गाडी खरीदने के बदले में दी थी, जिसकी कीमत उस समय बारह लाख पैतीस हजार रुपये थी, जिस कारण बादी को 5 लाख रूपयेका नुकसान हुआ था। 7 फरवरी 2023 को बादी ने नई मर्सडीज सी क्लास खरीदने के एवज में अपनी मर्सडीज लेमोसिन 2021 मॉडल की गाडी जिसकी कीमत अडतालिस लाख रुपये थी. उसे 30 लाख में बेचनी पड़ी और बादी को 18 लाख रुपये का नुकसान हुआ जो कि 30 प्रतिशत डेप्रिसियेशन पर गयी थी, ताकि बादी नई मर्सडीज सी क्लास वर्ष 2023 मॉडल खरीद सके। पीड़ित ने अपनी कार की खरीद बदले की एवज में मर्सडीज सी क्लास 2023 मॉडल 9 फरवरी 2023 को बुक कराई थी और आरोपियो के साथ प्रचेत एग्रीमेंट जिस पर फैनचाईसी के मध्य करार पर हस्ताक्षर हुए थे। मर्सडीज सी क्लास गाडी 24 फरवरी 2023 को खरीदी गयी थी और इन्वॉइस जिस पर बाई ओ एम. 2023 (निर्माण का वर्ष) लिखा था, जिसका पंजीकरण संख्यात यूके 07 एफके 1199 था। गाड़ी खरीदते हुसय पर्चेस ऑर्डर जिस पर दोनो पक्षकारों के हस्ताक्षर थे,। गाडी के इन्सोरेंस भी कम्पनी ने ही कराया गया, उसमें भी वाई.ओ.एम. (निर्माण का वर्ष 2023) अंकित था। पीड़ित को पता चला कि मर्सडीज गाडी का नया मॉडल जी.एल.सी. आरा है, इसलिए वह 30 जून 2023 को आरोपी के शौरूम पर गया और अपनी मर्सडीज सी क्लास गाडी के बदले मर्सडीज जीएलसी का नया मॉडल के लिए वार्ता की और यह जानकर आश्चर्य चकित रह गया कि उसकी पहले खरीदी गई गाडी पर 30 प्रतिशत डेप्रिसियेशन कटेगा, जब पीड़ित ने जानकारी ली कि ऐसा क्यों होगा, तो आरोपियों ने बताया कि गाडी 1 वर्ष पुरानी है, जब पीड़ित ने कहा कि शोरूप ने ही पर्चेस बिल 24 फरवरी 2023 का जारी किया हुआ है, तो आरेापी चुप हो गये। पीड़ित ने आरोपियो से यह भी कहा कि मेरी गाडी का बीमा जो उन्होनंे जारी किया था, उसमें भी निर्माण का वर्ष 2023 अंकित है। गाडी का रस्ट्रिशन सर्टिफिकेट अरोपियों ने गाडी खरीदने के एक माह पश्चात भेजा गया था। उस समय पीड़ित ने आरसी (रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट) देखा नहीं था और ऐसे ही गाडी के डैशबोर्ड पर रख दिया था। यह कि 30.जून 2023 को जब पीड़ित गाडी बदलने गया, जब उसे प्रथम बार यह एहसास हुआ कि उसके साथ धोखाधडी व फ्रॉड आरोपियों ने किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *