Sun. May 19th, 2024

जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को कार्यवाही के निर्देश दिए

देहरादून। जनसुनवाई में जिलाधिकारी ने डोईवाला दुधली में ग्राम समाज की भूमि पर अतिक्रमण की शिकायत पर उपजिलाधिकारी डोईवाला को कार्यवाही के निर्देश दिए। साथ ही भूमि के संबंध वन विभाग, राजस्व विभाग को संयुक्त निरीक्षण के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी सोनिका की अध्यक्षता में ऋषिपर्णा सभागार कलेक्ट्रेट में जनसुनवाई का आयोजन किया गया। जनसुनवाई में 96 शिकायतें प्राप्त हुई। जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जनसुनवाई में प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध निस्तारण करें। सेलाकुई में सार्वजनिक रास्ते पर अतिक्रमण की शिकायत तथा विकासनगर अंतर्गत भूमि संबंधी प्रकरणों पर पर उप जिलाधिकारी विकासनगर को जांच कर कार्यवाही के निर्देश दिए। हरिपुरकला में प्रॉपर्टी डीलर द्वारा संपति पर कब्जा करने की शिकायत पर उप जिलाधिकारी ऋषिकेश को जांच करते हुए कार्यवाही के निर्देश दिए। एक फरियादी द्वारा शिकायत की गई कि उनको वर्ष 1986 में नसबंदी स्कीम में विकासनगर क्षेत्रान्तर्गत भूमि पट्टे आवंटित किए गए किंतु नाम दर्ज नहीं हुआ, जिस पर उप जिलाधिकारी विकासनगर को कार्यवाही के निर्देश दिए। चकराता में मोटर मार्ग पर अतिक्रमण की शिकायत पर उप जिलाधिकारी चकराता एवं लोनिवि के अधिकारियों संयुक्त निरीक्षण करवाते हुए अतिक्रमण चिन्हित करने तथा अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए। भनियावाला में भूमि विस्थापन एवं मुवावजा संबंधी शिकायत पर उप जिलाधिकारी डोईवाला, विशेष भूमि अध्यापित अधिकारी को प्रकरण को देखते हुए कार्यवाही के निर्देश दिए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी झरना कमठान, उप जिलाधिकारी सदर नंदन कुमार (आईएएस), नगर मजिस्ट्रेट प्रत्यूष सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संजय जैन, उप जिलाधिकारी हरिगिरी गोस्वामी, उप नगर आयुक्त नगर निगम देहरादून गोपाल राम बिनवाल, पुलिस अधीक्षक क्राइम मिथिलेश कुमार, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ विद्याधर कापड़ी, जिला प्रोबेशन अधिकारी मीना बिष्ट सहित संबंधित विभागों के अधिकारी/कार्मिक मौजूद रहे।

अपनी समस्याएं लेकर स्वयं मिले फरियादी: डीएम

जिलाधिकारी ने शिकायतकर्ताओं से अनुरोध किया कि वे अपनी शिकायतों के संबंध में स्वयं मिलें। किसी अन्य के माध्यम से पत्र/आवेदन देने से बचें, साथ ही अधिकारियों को निर्देशित किया कि किसी अन्य की ओर से प्रस्तुत किए जा रहे आवेदन पर शिकायतकर्ता से ही आवेदन प्राप्त करने को कहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *