Fri. Jun 21st, 2024

देहरादून। लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने के साथ ही उत्तराखण्ड कांग्रेस को लगातार राजनीतिक झटके लग रहे है। जिससे कांग्रेस के माथे पर चिंता की लकीरें फूटने लगी है। साथ ही कांग्रेस नेताओं के लगातार भाजपा में शामिल होने से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में हताशा और निराशा का माहोल बनने लगा है। इसबीच दिल्ली में कांग्रेस के चमोली जिले के बदरीनाथ से विधायक राजेंद्र भंडारी ने कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उसके बाद वे भाजपा में शामिल हो गए है।  दिल्ली में राजेंद्र भंडारी ने पीयूष गोयल, सीएम धामी, अनिल बलूनी और दुष्यंत कुमार गौतम की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ली। अनिल बलूनी ने राजेंद्र भंडारी का पार्टी में शामिल होने पर स्वागत किया।
रविवार को उत्तराखंड कांग्रेस को एक और  बड़ा झटका बदरीनाथ से कांग्रेस विधायक राजेंद्र भंडारी के रूप में लगा। राजेंद्र भंडारी ने दिल्ली में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, उत्तराखंड सीएम पुष्कर सिंह धामी, उत्तराखंड भाजपा प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम और गढ़वाल लोकसभा सीट से प्रत्याशी अनिल बलूनी की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ली। राजेंद्र भंडारी के भाजपा में शामिल होने से गढ़वाल लोकसभा सीट पर भाजपा को फायदा होगा। क्योंकि गढ़वाल लोकसभा सीट पर राजेंद्र भंडारी ही एक मात्र कांग्रेस के विधायक थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *