Mon. Apr 22nd, 2024

स्टूडेंट लाइफ साइकल मॉड्यूल शुरू, मिलेगी सभी जानकारियां

ऑनलाइन देख सकेंगे परीक्षा, परीक्षाफल एवं क्रेडिट स्कोर

देहरादून। सूबे के उच्च शिक्षण संस्थानों में स्नातक स्तरीय प्रवेश प्रक्रिया के उपरांत समर्थ पोर्टल पर पंजीकृत प्रत्येक छात्र-छात्राओं को डिजिटल पहचान पत्र उपलब्ध कराए जाएंगे, जिसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही समर्थ पोर्टल पर स्टूडेंट लाइफ साइकल मॉड्यूल शुरू कर दिया गया है। इसके माध्यम से छात्र-छात्राओं को विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों की तमाम शैक्षणिक गतिविधियों की जानकारी ऑनलाइन मिलेगी। इसके अलावा छात्र-छात्राएं अपनी तमाम शैक्षिक उपलब्धियों की सूचनाएं भी प्राप्त कर सकेंगे।
राज्य सरकार की ओर से सूबे में उच्च शिक्षा के अंतर्गत कई पहलें शुरू की गई हैं। जिसमें समर्थ पोर्टल के माध्यम से महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में स्नातक स्तरीय प्रवेश प्रक्रिया भी शामिल है। समर्थ पोर्टल पर वर्तमान शैक्षणिक सत्र से कुमाऊं विश्वविद्यालय, श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय एवं सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय से सम्बद्ध महाविद्यलायों के लिये ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया आयोजित की गई। उच्च शिक्षा विभाग की ओर से प्रवेश प्रक्रिया के उपरांत अब समर्थ पोर्टल पर पंजीकृत प्रत्येक नव प्रवेशित छात्र-छात्राओं को डिजिटल पहचान पत्र उपलब्ध करा दिए गए हैं। साथ ही पोर्टल पर स्टूडेंट लाइफ साइकल मॉड्यूल शुरू कर एक नए डिजिटल युग की शुरूआत कर दी है। इस नये मॉड्यूल के माध्यम से छात्र-छात्राओं को एक क्लिक पर सभी सूचनाएं मिलेंगी। इसके अलावा स्टूडेंट लाइफ साइकल मॉड्यूल पर एक्जाम फार्म, एडमिट कार्ड सहित परीक्षा व प्रवेश संबंधी तमाम सूचनाएं छात्रों को समय पर मिलेंगी। पहली पर नव प्रवेशित छात्र-छात्राओं को प्रवेश के तुरंत बाद विश्वविद्यालय नामांकन संख्या भी उपलब्ध करा दी गई है, जबकि इससे पहले छात्र-छात्राओं को नामांकन संख्या परीक्षा फार्म भरने के उपरांत ही मिल पाता था। इस नये माडॅयूल के शुरू होने से छात्र-छात्राओं की तमाम समस्याओं को दूर करने का प्रयास किया गया है।

उच्च शिक्षा में समर्थ पोर्टल के माध्यम से प्रवेश प्रक्रिया एक महत्वपूर्ण एवं सार्थक पहल है। इससे प्रदेश के युवाओं को सुगम, गुणवत्तापूर्ण एवं रोजगारपरक शिक्षा के अवसर प्राप्त होंगे। यह पहल उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा के प्रति राज्य सरकार की प्रतिबद्धता का परिणाम है जो निश्चत ही छात्रों के सर्वांगीण विकास में सहायक साबित होगी। – डॉ. धन सिंह रावत, उच्च शिक्षा मंत्री।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *