Fri. Dec 1st, 2023

ई-रक्तकोष पोर्टल पर एक लाख से अधिक ने किया पंजीकरण

उत्तराखंड ने स्वैच्छिक रक्तदान को देशभर में बनाया रिकॉर्ड

देहरादून। राज्य सरकार स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति कितनी संजीदा है इस बात का अनुमान प्रदेश में आयोजित सेवा पखवाड़े के अंतर्गत लोगों द्वारा स्वैच्छिक रक्तदान पंजीकरण से लगाया जा सकता है। राज्य में 17 सितम्बर से आतिथि तक आयुष्मान भव कार्यक्रम के तहत आयोजित सेवा पखवाड़े के अंतर्गत एक लाख से अधिक लोगों ने स्वैच्छिक रक्तदान हेतु ई-रक्तकोष पोर्टल पर पंजीकरण कराने का पूरे देश में रिकॉर्ड कायम किया है। इस प्रकार राज्य में विगत दो वर्षों के दौरान स्वैच्छिक रक्तदान हेतु एक लाख 94 हजार से अधिक लोगों ने ई-रक्तकोष पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा लिया है जिसको आगामी दो अक्टूबर तक दो लाख के पार करने का लक्ष्य रखा गया है। जबकि सेवा पखवाडे के अंतर्गत 17 सितम्बर 2023 से आयोजित 654 रक्तदान शिविरों में 6 हजार 335 लोगों ने स्वैच्छिक रक्तदान किया है।
रक्तदान शिविरों का भी आयोजन किया जा रहा है। इसी के तहत राज्य में भी स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत की पहल पर प्रत्येक जनपद में राजकीय चिकित्सा केन्द्रों, वेलनेस सेंटरों एवं शिक्षण संस्थानों में रक्तदान शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग के तत्वाधान में एनएसएस, स्काउट्स-गाइड्स, रोवर्स-रेंजर्स, रेडक्रॉस व रेखीय विभागों के सहयोग से रक्तदान हेतु जन जागरूकता अभियान चलाने के साथ ही रक्तदान शिविरों का संचालन किया गया है। सेवा पखवाड़े के तहत अब तक 654 रक्तदान शिविरों में एक लाख 8 हजार 194 लोगों ने स्वैच्छिक रक्तदान हेतु भारत सरकार के पोर्टल ई-रक्तकोष पर अपना पंजीकरण कराया है, जोकि सेवा पखवाड़े के दौरान रखे गये एक लाख पंजीकरण के निर्धारित लक्ष्य को पहले ही पार कर चुका है। जबकि गत वर्ष सेवा पखवाडे के दौरान आयोजित रक्तदान शिविरों में 54 हजार 756 लोगों एवं अन्य मौकों पर 31207 लोगों स्वैच्छिक रक्तदान हेतु पंजीकरण कराया था। इस प्रकार राज्य में विगत दो वर्षों में आयोजित सेवा पखवाड़े के तहत स्वैच्छिक रक्तदान कराने वालों की संख्या एक लाख 94 हजार 157 पहुंच गई है। इस दौरान उत्तराखंड में भी प्रत्येक जनपद में विभिन्न कार्यक्रमों के साथ ही रक्तदान शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। जिनमें अब तक एक लाख 8 हजार 194 लोगों ने स्वैच्छिक रक्तदान के लिए अपना पंजीकरण कराया है जोकि एक लाख के लक्ष्य को भी पार कर गया है यहा पूरे देश में पंजीकरण का सर्वाधिक आंकडा है।- डॉ. धन सिंह रावत, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री, उत्तराखंड सरकार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *