Tue. Apr 23rd, 2024

बोले किसानों तक पहुंचे थे इकबाल मिल को दिए गए 31 करोड

रुड़की। पूर्व मुख्यमंत्री पर गन्ना मिलों को अनुचित लाभ पहुंचाने के संबंध में खानपुर विधायक के विधानसभा सत्र के दौरान लगाए गए आरोपों का क्षेत्र के किसानों ने खंडन किया है। किसानों ने दावा किया है कि खानपुर विधायक ने जिस राशि को लेकर तत्कालीन मुख्यमंत्री पर आरोप लगाए गए हैं वह राशि किसानों के खाते में समितियों के माध्यम से पहुंचाई गई थी।
हाल ही में हुए विधानसभा सत्र के दौरान खानपुर से निर्दलीय विधायक उमेश कुमार ने आरोप लगाए थे कि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए इकबालपुर शुगर मिल को 31 करोड रुपए देकर अनुचित लाभ पहुंचाया है। अब किसानों में इन आरोपों को निराधार बताते हुए पूर्वग्रह से ग्रसित बताया है।
रुड़की के सिविल लाइंस स्थित रेस्टोरेंट में पत्रकारों से वार्ता करते हुए धर्मपाल प्रधान ने बताया कि वर्तमान राज्यसभा सांसद नरेश बंसल हरिद्वार, सांसद रमेश पोखरियाल निशंक के प्रयासों के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार ने गन्ना समिति इकबालपुर एवं ज्वालापुर को 31 करोड रुपए का किसानों का भुगतान दिया था, दी गई धनराशि एक-एक रुपए समितियों से संबंधित किसानों के खाते में गई है। उन्होंने कहा कि अगर उसे समय इकबालपुर शुगर मिल को 31 करोड रुपए ना मिलता तो किसान फैक्ट्री को गन्ना न देता और फैक्ट्री बंद हो जाती जिसके कारण किसानों की आर्थिक स्थिति खराब हो जाती और किसान आत्महत्या की कगार पर होता।
किसानों ने तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, राज्यसभा सांसद नरेश बंसल हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक, पूर्व सलाहकार नरेंद्र सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा आदि का आभार जताया। किसानों ने समितियां को दिए गए चेक के प्रमाण भी पत्रकारों के सामने रखे गए। इस अवसर पर नावेद प्रधान, आदिल, अकरम मुकेश राणा, संदीप राणा, कुलदीप राणा, ईशा त्यागी, जोगिंदर, नंद सिंह, धर्मपाल सिंह, वीरेंद्र, सुनील, सुखपाल महकार सिंह, सुमित, शेखर, सिद्धार्थ चैधरी, जसवीर, इरफान, उमेश कुमार, संजय त्यागी, संदीप, सुखपाल सिंह आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *