Tue. Apr 23rd, 2024

पूर्व सीएम हरीश रावत का मिला समर्थन
घेराव के दौरान प्रदर्शनकारियों व पुलिस के बीच हुई धक्का मुक्की
देहरादून। उपनल कर्मचारी समान कार्य समान वेतन और नियमितीकरण जैसी मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को सैकड़ों की संख्या में उपनाल कर्मचारी परेड ग्राउंड में एकत्रित हुए। इसके बाद पैदल मार्च निकालते हुए सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी के न्यू केंट रोड स्थित आवास का घेराव किया। इसी बीच सुरक्षा बल और प्रदर्शनकारियों के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने आवास में 1 घंटे का मौन रखा और उपनल कर्मचारियों के आंदोलन में शामिल हुए।
पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि उपनल कर्मचारी निरंतर कई समय से अत्याचार के शिकार हो रहे हैं और इनमें से कुछ ऐसे कर्मचारी भी होंगे, जिन्होंने अपने जीवन का एक बड़ा हिस्सा उपनल कर्मी के रूप में बिता दिया है। लेकिन अभी तक उनकों सेवा सुरक्षा नहीं मिल पाई है। उन्होंने कहा कि इनका नियमितीकरण बहुत पहले हो जाना चाहिए था, लेकिन सरकार उनकी मांगों को गंभीरता से नहीं ले रही है।
हरीश रावत ने कहा कि राज्य की सभी महत्वपूर्ण सेवाएं इन कर्मचारियों के माध्यम से चलाई जा रही हैं, लेकिन सरकार इनका संरक्षण प्रदान नहीं कर रही है और मानदेय बढ़ाने में भी टाल-मटोल कर रही है। अभिभावक होने के नाते वह इससे बहुत दुखी हैं। उन्होंने कहा कि यह कोई राजनीतिक नहीं, बल्कि सामूहिक लड़ाई है। हम सब लोगों को मिलजुल कर उनके भविष्य को सुरक्षित करना होगा।



लोकसभा चुनाव में बदला लेंगे उपनल कर्मचारीः गोदियाल
देहरादून। उपनल महासंघ के अध्यक्ष विनोद गोदियाल ने कहा कि सरकार जल्द से जल्द हाईकोर्ट के नियमितीकरण और समान काम के बदले समान वेतन दिए जाने के आदेश को लागू करें। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई एसएलपी को सरकार को वापस लेना चाहिए। साथ ही उन्होंने चेतावनी दी है कि हम पूरे प्रदेश में 25000 कर्मचारी हैं और 25000 कर्मचारियों के परिवार मिलकर इस सरकार को लोकसभा चुनाव में सबक सिखाएंगे।



उपनल कर्मचारियों की हड़ताल से स्वास्थ्य सेवाएं चरमराई
देहरादून। उत्तराखंड के अनेकों विभागों में कार्यरत उपनल कर्मचारी अपनी विभिन्न मांगों के लेकर हड़ताल पर हैं। स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं। पछवादून में उप जिला अस्पताल में प्रतिदिन करीब चार सौ से अधिक ओपीडी की जा रही है। ऐसे में मरीजों को लंबे इंतजार करना पड़ रहा है। देहरादून के अलावा उपजिला अस्पताल विकासनगर में हिमाचल, जौनसार बावर गढ़वाल के मरीज इलाज कराने के लिए आते हैं। ऐसे में उपनल कर्मचारियों की हड़ताल से मरीजों को लंबी-लंबी लाइनों में खड़ा होकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है। उप जिला अस्पताल के सीएमएस विजय सिंह ने बताया कि अस्पताल में रोज करीब 400 ओपीडी आती है। ऐसे में उपनल कर्मचारियों की हड़ताल से मरीजों को काफी परेशानी हो रही है। हालांकि मरीजों की देखभाल के लिए व्यवस्था बनाई गई है, लेकिन थोड़ा समय ज्यादा लग रहा है। उन्होंने कहा कि अगर हड़ताल ज्यादा लंबी चलती है, तो स्वास्थ्य सेवाओं पर इसका ज्यादा असर देखने को मिलेगा। सीएमएस विजय सिंह ने बताया कि इस समय अस्पताल में वाहन चालक भी उपनल से ही कार्यरत थे। जिससे अस्पताल परिसर में वाहन भी खड़े हो गए हैं। उन्होंने कहा कि हम रेगुलर कर्मचारियों से अतिरिक्त कार्य ले रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *