Thu. Feb 29th, 2024

हरिद्वार। जमीन दिलवाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले मास्टर माइंड को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी द्वारा कामकाजी महिला को धोखाधड़ी का शिकार बनाते हुए उसे सस्ती दरों पर जमीन दिलवाने का भरोसा दिया गया था।
मिली जानकारी के अनुसार बीते साल 24 जून को ग्राम घीस्सरपडी डोईवाला देहरादून निवासी राखी वर्मा द्वारा न्यायालय के आदेश पर थाना भगवानपुर पर विपक्षी नीरज कुमार, विरेन्द्र प्रधान व रमन सिंह पाल के जमीनी धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया था। दी गयी तहरीर के अनुसार विपक्षियों द्वारा भगवानपुर हरिद्वार मे खेडी शिकोहपुर गांव मे सस्ती दरो पर जमीन दिलवाने के नाम पर पीड़िता व उनके पति के साथ 8 लाख रूपये की धोखाधडी की गई तथा सौदे के शेष रूपये 14 लाख रूपये के बैंक चौक हस्ताक्षरित ले लिये। जानकारी करने पर पता चला कि दिखाई गई जमीन विक्रेता रमन सिंह पाल के नाम पर न होने के बावजूद उपनिबन्धक कार्यालय रूडकी से जमीन की फर्जी रजिस्ट्री तैयार की गई। जांच के दौरान प्रकाश में आया कि जमीन तलाश रही पेशे से कामकाजी महिला राखी वर्मा व उनके पति का सम्पर्क आरोपी नीरज कुमार से हुआ। खुद का परिचय प्रॉपर्टी डीलर के तौर पर देते हुए नीरज कुमार ने दंपति को वर्ष 2020 में हरिद्वार बुलाकर ग्राम खेडी शिकोहपुर भगवानपुर मे एक जमीन दिखाकर करीब 12 बीघा जमीन का सौदा 22 लाख रूपये में तय करते हुए बताया कि जमीन का मालिकाना हक रमन सिंह पाल के नाम पर है। दंपति ने इस सौदे की एवज में रजिस्ट्री के दौरान 8 लाख रूपये की नगदी व 14 लाख रूपये के बैंक चौक आरोपियों को सौंपे।
भूमि अभिलेखों की पड़ताल करने पर पीड़ित पक्ष को पता चला कि जिस जमीन की रजिस्ट्री की गई है वह जमीन फर्जी विक्रेता रमन सिंह पाल के नाम पर दर्ज नही है। धोखाधडी कर की गई उक्त फर्जी रजिस्ट्ररी मे बतौर गवाह भी आरोपित नीरज कुमार रहा।
न्यायालय के आदेश पर धोखाधडी का मुकदमा दर्ज होने पर आरोपितों की तलाश की गई तो मुख्य आरोपी नीरज कुमार लगातार अपने घर से फरार चल रहा था। जिस पुलिस ने कल देर रात एक सूचना के आधार पर दबिश देकर आरोपी नीरज कुमार को गांजा चौक नियर गांजा मजरा बुग्गावाला क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसने पूछताछ में अपराध की घटना को अपने साथियो के साथ मिलकर अंजाम देना स्वीकार किया। पुलिस ने नीरज की निशांदेही पर उसके घर से जमीन क्रय के नाम पर पीड़िता के पति से लिये गये कुल 14 लाख रूपये अंकन धनराशि के 5 बैक चौक बरामद किये। बहरहाल पुलिस ने उसे न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *