Fri. Jun 21st, 2024

जेसीबी और स्नो कटर मशीन से हटायी जा रही बर्फ
चकराता। बीते दिनों हुई बर्फबारी के बाद होटल व्यवसायियों और किसानों के चेहरे खिले हुए हैं। सैलानी भी चकराता और आसपास के क्षेत्रों में पहुंचकर बर्फ का मजा लेने आ रहे हैं, लेकिन यह बर्फ लोगों की मुसीबतें भी बढ़ा गयी है। जौनसार बावर की लाइफ लाइन कही जाने वाली चकराता त्यूनी मोटर मार्ग पर बर्फ जमी हुई है। जिससे आवाजाही जोखिम भरी हो गयी है। वहीं, एनएच और लोनिवि बर्फ को हटाने का काम में जुटी है।
बता दें कि चकराता के आसपास के ऊंचाई वाले इलाकों में करीब एक से डेढ़ फीट बर्फबारी हुई। हालांकि, दो दिनों की बारिश और बर्फबारी के बाद धूप खिली है, लेकिन चकराता त्यूनी मोटर मार्ग पर भी बर्फ जमी हुई है। ऐसे में नेशनल हाईवे और लोक निर्माण विभाग की ओर से 3 जेसीबी और 1 स्नो कटर की मदद से सड़क से लगातार बर्फ हटाने का काम किया जा रहा है।
बीते दिन सड़क पर बिछी बर्फ की वजह से कई वाहन फंस गए थे। जगह-जगह सड़क पर बर्फ होने से फिसलन बढ़ गई है। जिससे सफर करना मुश्किल और जोखिम भरा हो गया है। चकराता से कोटी कनासर तक करीब 30 किलोमीटर लंबी सड़क पर बर्फ जमी है। लिहाजा, एनएच और लोनिवि देहरादून की ओर से बर्फ हटाने का काम युद्धस्तर पर किया जा रहा है।
लोक निर्माण विभाग देहरादून के सहायक अभियंता जेएस रावत ने बताया कि दो दिनों से लगातार 3 जेसीबी और 1 स्नो कटर मशीन की मदद से सड़क पर बिछी बर्फ को हटाने का काम किया जा रहा है। मौके की स्थिति की रिपोर्ट समय-समय पर जिलाधिकारी को दी जा रही है। उन्होंने बताया कि अभी चकराता त्यूनी मोटर मार्ग पर वाहनों का आवागमन चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *