Tue. May 28th, 2024

मरीज बोले, ओपीडी लगने से दून-ऋषिकेश आने-जाने की परेशानियों से मिलती है बहुत राहत

दून अस्पताल के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. अमर उपाध्याय ने देखे मरीज, दिया परामर्श व दवा

बोले डॉ. उपाध्याय, शारीरिक निष्क्रियता ना रखे, हार्ट हेल्थी रखने के लिए रोजाना 40 मिनट की पैदल सैर करे व फास्ट फूड तथा अत्यधिक तैलीय पदार्थों से बचें

माननीय चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत जी की पहल पर हुई कार्डियो ओपीडी शुरु

माह के प्रथम रविवार और तीसरे रविवार को लगेगी कार्डियो ओपीडी

श्रीनगर। राजकीय मेडिकल कॉलेज के बेस चिकित्सालय में रविवार को पहली कार्डियो ओपीडी लगायी गई। जिसमें दून अस्पताल के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. अमर उपाध्याय ने पहुंचकर हदृय रोग संबंधी मरीजों की जांच करते हुए दवा एवं परामर्श दिया। हार्ट संबंधी ज्यादा दिक्कत होने पर मौके पर इको किया गया। जबकि कई मरीजों को एंजियोग्राफी कराने की सलाह दी गई। ओपीडी में पहले दिन 40-50 लगभग मरीज इलाज कराने पहुंचे। मरीजों ने भी कार्डियो ओपीडी माह में दो दिन शुरु करने की पहल पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि कार्डियो ओपीडी लगने से उनका दून-ऋषिकेश जाने की झंझट से बड़ा छुटकारा मिलेगा ।

प्रदेश के माननीय चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत जी पहल पर बेस चिकित्सालय में कार्डियो की ओपीडी शुरु की गई। इससे पूर्व चारधाम यात्रा के दौरान भी कार्डियो की ओपीडी सुचारू रूप से संचालित रही। अब हर माह के प्रथम और तीसरे रविवार को बेस चिकित्सालय में कार्डियो की ओपीडी की शुरुआत हो चुकी है। दून अस्पताल के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. अमर उपाध्याय ने बताया कि हार्ट के मरीजों में आमतौर से हार्ट की नसों में ब्लॉकेज होने पर मांसपेशियां कमजोर होती है, जिससे हार्ट की दिक्कतें होती है। पहले यहां एक माह में दो दिन ओपीडी लगायेगे, अभी इको कर रहे है, जैसे जैसे व्यवस्थाएं बढ़ेगे तो टीएमटी, एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी से पहले सभी जांच और उपचार करने की योजना बनायेंगे। डॉ. उपाध्याय ने कहा कि हार्ट संबंधी दिक्कतें हो अस्पताल में ईसीजी कराकर प्रारंभिक जांचें जरूर कराये, गूगल के जरिए परामर्श ना ले। उन्होंने कहा कि हार्ट संबंधी परेशानियां होने का मुख्य कारण शारीरिक निष्क्रियता है, रोजाना 40 मिनट की पैदल सैर करे, इससे हार्ट हेल्थी रहेगा। धुम्रपान से बचे और ब्लड़ और शुगर की दिक्कत है तो नियमित चेक कराये और कट्रोल में रखे। ओपीडी में मेडिसिन विभाग के एसआर डॉ. जययुर्थापति, पीजी जेआर डॉ. विनोद तिवारी, डॉ. टूबा, बद्रर अरूण सिंह, ईसीजी प्रभारी कमल गुंसाई, संजीव रावत ने सहयोग दिया। इससे पूर्व बेस चिकित्सालय के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अजेय विक्रम सिंह, ब्लड़ सेंटर प्रभारी डॉ. सतीश कुमार, मेडिसिन विभाग के एचओडी डॉ. केएस बुटोला ने ओपीडी शुरु करने पर डॉ. उपाध्याय का बुके व माला पहनाकर स्वागत किया।

मरीजों ने जताया ओपीडी लगाने पर आभार
कार्डियो ओपीडी लगाने पर रूद्रप्रयाग, कीर्तिनगर, श्रीनगर, पौड़ी से पहुंचे मरीजों ने प्रदेश के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ.धन सिंह रावत जी का आभार प्रकट किया। ओपीडी में पहुंचे भगवान सिंह, लक्ष्मण सिंह, विमला देवी, लाल सिंह, बृजमोहन सिंह, ज्ञान सिंह भंडारी, मोहन लाल, शैलेश भट्ट, सुरेन्द्र सिंह, एसआर गैरोला, बसंती देवी, गुड्डी देवी, कल्पना देवी, मीना देवी, मुराली लाल ने कहा कि पहले उन्हें चेकअप के लिए ऋषिकेश या देहरादून जाना पड़ता है। इस तरह की ओपीडी शुरु करने से मरीजों को परेशानियों से राहत मिलेगी। मरीजों ने डॉ. अमर उपाध्याय द्वारा श्रीनगर में ओपीडी शुरु करने पर उनका आभार जताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *