Thu. Feb 29th, 2024

देहरादून। जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक शिक्षा) ने जूनियर हाईस्कूल रूद्रपुर के प्रधानाध्यापक संजय कुमार प्रजापति को निलंबित कर दिया है। उन पर छात्रों को पीटने, ठंडे पानी में नहलाकर वीडियो बनाने और शिक्षकों से अभद्रता जैसे गंभीर आरोप लगाए गए हैं। हालांकि, प्रधानाध्यापक ने सभी आरोपों को निराधार बताया है। प्रधानाध्यापक के पास संकुल समन्वयक का भी प्रभार था। बीईओ विकासनगर बीपी सिंह ने बताया कि, प्रधानाध्यापक के खिलाफ स्थानीय प्रतिनिधियों, ग्रामीणों और शिक्षकों ने शिकायत की थी। मुख्य शिक्षा अधिकारी ने जीआईसी छरबा और होरावाला के प्रधानाचार्य के नेतृत्व में जांच कमेटी गठित की।
प्रधानाध्यापक को आरोप बताकर जवाब मांगा गया तो उन्होंने सिरे से नकार दिया। इसके बाद मुख्य शिक्षा अधिकारी के निर्देश पर जीआईसी गुनियावाला के प्रधानाचार्य के नेतृत्व में बीते साल 22 दिसंबर को विद्यालय का औचक निरीक्षण किया गया। जांच में यह तथ्य प्रकाश में आया कि प्रधानाध्यापक साथी शिक्षकों से अभद्र व्यवहार करते हैं। मानसिक उत्पीड़न भी करते हैं। परिचारक ने भी प्रधानाध्यापक को लेकर नकारात्मक तथ्य रखे। भोजन माताओं ने समय पर मानदेय न मिलने की बात कही।
छात्र-छात्राओं ने बताया कि प्रधानाध्यापक गणित पढ़ाते हैं। वे अक्सर विद्यालय नहीं आते हैं। पठन-पाठन का कार्य भी सही ढंग से नहीं कराते हैं। कक्षा-8 में दूसरे पाठ से सीधे आठवें पाठ को पढ़ाना शुरू कर दिया। विद्यालय में धूम्रपान भी करते हैं। कक्षा-8 के छात्र अर्श ने बताया कि प्रधानाध्यापक ने उसे डंडे से मारा। उसकी कलाई में घाव हो गया। इलाज चल रहा है। कक्षा-8 के छात्र आकाश, कक्षा-7 के छात्र विनीत थापा व अमन ने बताया कि उन्हें खुले में नहलाया गया। इसका वीडियो भी बनाया गया। प्रधानाध्यापक ने सत्र 2022-23 में गणवेश सहारनपुर से क्रय किया। एसएमसी का कोई प्रस्ताव प्रस्तुत नहीं किया गया।
ईको क्लब में प्राप्त 15 हजार रुपये की धनराशि का व्यय किया, लेकिन बिल बाउचर उपलब्ध नहीं कराए। गणित का पाठ्यक्रम भी पूर्ण नहीं किया। बीईओ ने बताया कि निलंबित प्रधानाध्यापक को आरोप पत्र जारी कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *