Wed. Feb 28th, 2024

गवाह की हत्या से पुलिस महकमे में मचा हड़कंप
खटीमा। खटीमा के सुरई वन रेंज के भारामल बाबा हत्याकांड मामले में बड़ी खबर सामने आई है। भारामल बाबा हत्याकांड के चश्मदीद गवाह सेवादार नन्हे बाबा की संदिग्ध परिस्थितियों में डूबने से मौत हो गई है। जिससे हड़कंप मच गया है। पुलिस शव को कब्जे में लेकर हर पहलुओं की जांच में जुट गई है।
गौर हो कि बीती 5 जनवरी को भारामल बाबा मंदिर के महंत हरि गिरि महाराज और उनके सेवादार रूप सिंह की हत्या कर दी गई थी। उस समय आश्रम में सेवादार नन्हे बाबा भी मौजूद थे। जो हमलावरों के हमले से बाल-बाल बच गए थे। जो उस हत्याकांड के मुख्य गवाह थे, लेकिन बीती रात निर्माण बाबा आश्रम कुटिया के पीछे बहने वाले नाले में डूबने उनकी मौत हो गई।
सेवादार की मौत की सूचना मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और सेवादार नन्हे बाबा के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल भेजा। जहां दो डॉक्टरों की टीम ने सेवादार का पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर की मानें तो सेवादार नन्हे बाबा की मौत का कारण डूबना है। फिलहाल, पुलिस घटना की विस्तृत जांच में जुट गई है।
बता दें कि बीते रोज ही भारामल बाबा हत्याकांड के 20 दिन बीत जाने के बाद भी घटना का खुलासा न होने पर डीआईजी कुमाऊं योगेंद्र रावत ने खुद घटनास्थल का दौरा किया था। जहां उन्होंने मामले की जांच में जुटे अधिकारियों को जल्द से जल्द घटना का खुलासा करने को कहा था, लेकिन बीती रात गवाह की मौत हो गई। ऐसे में हत्याकांड के चश्मदीद सेवादार नन्हे की मौत ने नए सवाल खड़े कर दिए हैं। वहीं, एक महीने के भीतर तीन हत्याओं से दहशत का माहौल है।


मामले की गहनता से हो रही जांचः एसडीएम
खटीमा। खटीमा विधायक भुवन कापड़ी ने भी इन हत्याओं पर चिंता जताते हुए जल्द से जल्द खुलासा करने की मांग की है। एसडीएम रविंद्र सिंह बिष्ट ने बताया कि पुलिस पूरे मामले की गहन जांच कर रही है। जल्द ही पूरे घटनाक्रम का खुलासा कर दिया जाएगा। उधर, अपर पुलिस अधीक्षक मनोज कत्याल का कहना है कि सेवादार नन्हे की बॉडी को रिकवर कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। मामले में सभी पहलुओं को ध्यान में रख बारीकी की जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *