Sun. Jul 14th, 2024

5 जिलों में औरेंज तो 4 के लिए येलो अलर्ट
ओलावृष्टि व तेज हवाओं से मौसम में बढ़ी ठिठुरन
 3200 मीटर या इससे ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी बर्फबारी की भी संभावना
देहरादून। उत्तराखंड में मौसम विभाग ने कई जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा कुछ जिलों में येलो अलर्ट भी जारी किया है। मौसम विभाग की मानें तो प्रदेश के पांच जनपदों में भारी बारिश की संभावना है। उधर राज्य में ओलावृष्टि और तेज हवाएं भी लोगों को परेशान कर सकती हैं।
उत्तराखंड में अधिकतर जिलों में हल्की बारिश के साथ तेज हवाओं के चलने की संभावना व्यक्त की गई है। मौसम विभाग की मानें तो 2800 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बर्फबारी भी संभव है। प्रदेश में उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों के लिए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है। जबकि इन जिलों में 3200 मीटर या इससे ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी बर्फबारी की भी संभावना व्यक्त की गई है। इतना ही नहीं राज्य के गढ़वाल मंडल के कुछ जिलों में और कुमाऊं मंडल में कुछ क्षेत्रों में बिजली गिरने और ओलावृष्टि के साथ तेज हवाओं के चलने की संभावना व्यक्त की गई है।
उत्तराखंड में कुछ जिलों के लिए येलो अलर्ट भी जारी किया गया है। इनमें टिहरी, देहरादून, हरिद्वार और नैनीताल जिलों के लिए मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है। इन क्षेत्रों में भी हल्की बारिश की संभावना व्यक्त गई है। वैसे मौसम विभाग ने शनिवार को प्रदेश भर में आसमान में बादल छाए रहने की संभावना व्यक्त की है। राजधानी देहरादून समेत प्रदेश भर के कई जिलों में देर रात से ही बारिश का सिलसिला जारी रहा। इसके अलावा आसमान में सुबह से ही बदल भी छाए हुए हैं। शनिवार की सुबह रुक रुक कर बारिश भी देखने को मिली है।  यमुनोत्री धाम सहित आसपास के इलाकों में दोपहर बाद से ही बारिश शुरू हो गई थी। वही हहर्षिल और मां गंगा की शीतकालीन धाम मुखबा में भी काफी बर्फबारी हुई है। यहां पर अभी तक 6 इंच से ज्यादा बार जम चुकी है। भारी बर्फबारी के कारण यमुनोत्री क्षेत्र में ठंड में भी बढ़ोतरी हुई है। जानकी चट्टी, खरसाली, नारायणपुरी, फूल चट्टी क्षेत्र में भी काफी बर्फबारी हुई है। बद्रीनाथ, केदारनाथ धाम, हेमकुंड साहिब, फूलों की घाटी गोरसों बुग्याल आदि क्षेत्रों में भी बर्फबारी हुई है।



पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से बदला मौसम
देहरादून। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार और रविवार को पर्वतीय जिलों में भारी बर्फबारी होगी। देहरादून, हरिद्वार, टिहरी और नैनीताल जिले के कुछ इलाकों में भारी बारिश का येलो अलर्ट भी जारी किया गया है। इसके साथ ही 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से झोंकेदार हवाएं भी चलेंगी। मौसम विज्ञानियों के अनुसार पिछले कुछ वर्षों से जलवायु परिवर्तन और मौसम के बदलते चक्र के कारण मार्च में भी मौसम में बदलाव आया है और मार्च के महीने में जनवरी के जैसा मौसम बना हुआ है। इसका मुख्य कारण पश्चिमी विक्षोभ का सक्रिय होना है। पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की वजह से बारिश और भारी हिमपात की संभावनाएं बन रही हैं।


4 मार्च को रहेगा मौसम साफ
देहरादून। 4 मार्च के बाद मौसम साफ हो जाएगा। हालांकि पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी होने के बावजूद तापमान पर इसका कोई खास असर नहीं दिखाई दे रहा है। देहरादून का अधिकतम तापमान 25.7 और न्यूनतम तापमान 12.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पंतनगर का अधिकतम तापमान 27.5 और न्यूनतम तापमान 8.0 डिग्री सेल्सियस रहा। मुक्तेश्वर का अधिकतम तापमान 19.5 और न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस रहा न्यू। नई टिहरी का तापमान 14.4 और न्यूनतम तापमान 7.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।


मैदानी क्षेत्रों में बूंदाबांदी और मसूरी में हल्की बारिश
देहरादून। राजधानी में शुक्रवार देर रात कई इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हुई, जबकि मसूरी में शुक्रवार को सुबह से मौसम का मिजाज बदला नजर आया। इधर, मौसम विभाग ने दून में भी एक-दो दौर की बारिश के साथ तेज हवाएं चलने का पूर्वानुमान जारी किया है। मसूरी में शुक्रवार को दोपहर 11 बजे के करीब आसमान में बादल छाने के साथ बूंदाबांदी शुरू हो गई। दोपहर दो बजे दोबारा बारिश होने के साथ ठंड बढ़ गई। इससे मसूरी के पर्यटन स्थलों पर काफी कम पर्यटक नजर आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *