Sun. May 19th, 2024

हरिद्वार पुलिस ने पति को किया गिरफ्तार
गला घोटकर उतारा था मौत के घाट
सीसीटीवी ने खोला हत्यारे का राज

हरिद्वार। श्यामपुर थाना क्षेत्र में चंडीदेवी मंदिर जाने वाले पैदल मार्ग पर एक हफ्ते पहले जंगल में मिली महिला की लाश का पुलिस ने गुरुवार को खुलासा कर दिया है। महिला की हत्या गला घोटकर की गई है। हत्या के आरोप में पुलिस ने महिला के पति को ही गिरफ्तार किया है।
पुलिस ने बताया कि करीब एक हफ्ते पहले चण्डीदेवी पैदल मार्ग से सटे जंगल में करीब 30-32 वर्षीय अज्ञात महिला का शव बरामद हुआ था। पुलिस के मुताबिक घटना स्थल पर ऐसा कुछ नहीं मिला था, जिसके आधार पर महिला की शिनाख्त की जा सके। महिला की शिनाख्त और मामले के खुलासे के लिए हरिद्वार एसएसपी प्रमेंद्र डोभाल के निर्देश पर पुलिस की कई टीमें गठित गई थी।
 पुलिस ने बताया कि जिस इलाके में महिला की लाश की मिली थी, वहां आसपास और मुख्य सड़क पर कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं है। चंडी देवी मंदिर पर भी सिर्फ दो ही सीसीटीवी कैमरे है। ऐसे में पुलिस के सामने इस मामले का खुलासा करना बड़ी चुनौती थी, लेकिन पुलिस ने हार नहीं मानी और घटना स्थल के पांच किमी के क्षेत्र में लगे सभी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल डाली। पुलिस को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला कि महिला की हत्या गला घोटकर की गई है। इसके बाद पुलिस ने हत्या के संभावित समय के हिसाब से सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली तो जिस महिला की हत्या हुई उसके हुलिए से मिलती जुलती महिला एक पुरुष के साथ चंडी घाट, हर की पैड़ी, मंशा देवी मार्ग व अपर रोड़ पर घूमती हुई दिखी, लेकिन कुछ देर बाद पुरुष पैदल और फिर ऑटो में जाता हुआ दिखाई दिया।
इसके बाद पुलिस ने उस रूट के ऑटो चालकों से पूछताछ की, जिसके बाद पुलिस का जानकारी मिली कि आरोपी परमानंद विहार कॉलोनी की तरफ देखा गया है। इसके बाद पुलिस कमरा किराए पर लेने के बहाने घर-घर गई और डोर-टू-डोर चेकिंग की। इस तरह पुलिस को संदिग्ध आरोपी अजय निवासी बदांयू यूपी के बारे में जानकारी मिली।इसके बाद पुलिस की एक टीम को बदायूं भी भेजा गया, लेकिन वहां भी पुलिस को कोई कामयाबी नहीं मिली। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी सिड़कुल क्षेत्र हरिद्वार में है, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को दबोच लिया।



घरेलू झगड़ों से तंग आकर पत्नी को रास्ते से हटाया
हरिद्वार। पूछताछ में आरोपी अजय ने पुलिस को बताया कि उसने गैर समुदाय की युवती से शादी कर ली थी। दोनों बदायूं में ही रहे थे, लेकिन इसी बीच उसकी पत्नी रिश्तेदारी में जाने का बहाना बनाकर गायब हो गई। अजय तभी से अपनी पत्नी की तलाश कर रहा था, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल पाया है। इस दौरान अजय भी जब रोजगार के लिए हरिद्वार लौटा तो उसे दोस्तों से पता कि उसकी पत्नी किसी लड़के के साथ रह रही है। इसके बाद अजय अपनी पत्नी को मनाकर दोबारा से अपने पास ले आया और हरिद्वार में ही किराए के मकान में रहना लगा। पुलिस का कहना है कि दोनों के बीच अक्सर किसी न किसी बात पर बहस होती रहती थी। आखिर में घेरलू झगड़ों से तंग आकर अजय ने पत्नी को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। 8 नवंबर को अजय पत्नी को मन्दिर घुमाने के बहाने हरिद्वार लाया और हर की पौड़ी से होते हुए पैदल-पैदल चंडी देवी मंदिर के लिए लेकर गया।पुलिस के मुताबिक अजय बहाना बनाकर अपनी पत्नी को जंगल ले गया, जहां पहले अजय ने चाकू से पत्नी पर वार करने का प्रयास किया, लेकिन उसमें वो कामयाब नहीं हो पाया और उसका चाकू साइड में गिर गया। इसके बाद अजय ने अपनी पत्नी की गला घोटकर हत्या कर दी। इस वारदात के बाद अजय ने अपना मोबाइल बंद कर लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *