Mon. Mar 4th, 2024

देहरादून। दून की यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए निदेशक यातायाता मुख्तार मोहसिन मैदान में उतरे और बोटलनेक स्थानों को चिन्हित किया। पुलिस महानिदेशक,उत्तराखण्ड के निर्देशों को क्रम में मुख्तार मोहसिन,पुलिस महानिरीक्षक व निदेशक यातायात उत्तराखण्ड द्वारा देहरादून की यातायात व्यवस्था को बेहत्तर करने के उद्देश्य से प्रथम चरण में देहरादून सिटी में स्थित चिन्हित बोटलनेक प्वांईट का यातायात निदेशालय से टीम भिजवाकर स्थलीय निरीक्षण कराया गया एवं गूगल मेप टीम की मदद से ऐसे चौक जिनमें यातायात का दबाव बना रहता है, उनका पिछले एक माह का मेप डाटा का आंकलन कर ऐसे चौक को चिन्हित किया गया। जनपद देहरादून में कुल 15 बोटलनेक प्वाईंट है जिनमें दिलाराम से ग्रेट वैल्यू, रिस्पना से नेहरु कॉलोनी तिराहा, जाखन,धर्मपुर चौक से हिमपैलेस तक,दून अस्पताल चौराहा, किशननगर चौक, रायपुर रोड़ एवं सर्वे चौक, प्रिन्स चौक से होटल रिचीरिच, मसूरी, एमकेपी चौक, गांधी रोड़ रेलवे स्टेशन, कमला पैलेस, डालनवाला स्कूल क्षेत्र, घंटाघर का स्थलीय निरीक्षण एवं गूगल मेप आईटीएमएस टीम की मदद ऐसे स्थान तथा जहां पर यातायात का दबाव बना रहता है उनमें 6 नं पुलिया, दर्शनलाल , आराघर , सर्वे  से सहस्त्रधारा क्रांसिंग, फव्वारा , लालपुल, जोगीवाला, लैंसडाउन चौक, कारगी चौक, हाथीबड़कला, आईएसबीटी, बल्लीवाला चौक, कांवली रोड, सिटी हार्ट तिराहा उपरोक्त स्थलों का निरीक्षण कराने के उपरान्त निदेशक यातायात उत्तराखण्ड द्वारा पुलिस उपाधीक्षक यातायात एवं देहरादून के समस्त यातायात निरीक्षक यातायात उपनिरीक्षक के साथ उपरोत्तफ स्थलों की यातायात व्यवस्था के सुधार हेतु गोष्ठी आयोजित की गई,जिसमें निम्न निर्देश दिये गये कि ड्यूटी प्वाईंटस पर यातायात कर्मी लाउड हेलर के साथ ड्यूटी करेंगे जिससे उनके चौक के आसपास खड़े होने वाले वाहनों को लगातार इसके माध्यम से बोलकर हटाते रहेंगे ताकि चौक सुचारु रुप से चलता रहे। सीपीयू पीक ऑवर में चिन्हित स्थलों पर ड्यूटी पर रहेगी और लगातार चौक के यातायात दवाब कम करने के लिए चौक का संचालन करेगी। इसके साथ ही उपरोक्त चिन्हित स्थलों के आसपास कोई भी वाहन अगर सड़क पर खड़ा होगा तो पहले तो टोईंग मशीन वाले माईक से एलाउंसमेंट करेंगे उसके बाद भी अगर वाहन स्वामी वाहन नहीं हटाता है तो तत्काल उसे टो कर लिया जाए। रात्रि ड्यूटी के समय लगने वाले बैरियर को दिन में हटा लिया जाए। अनावश्यक रुप से सड़कों पर न रखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *