Tue. Apr 23rd, 2024

एम्स ऋषिकेश में नौकरी के नाम पर लगाया था चूना
देहरादून। एम्स ऋषिकेश में नौकरी लगाने के नाम पर लोगों से 36 लाख रुपए लेकर धोखाधड़ी करने वाले 10 हजार के इनामी आरोपी को देहरादून की डोईवाला पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार किया है। आरोपी पिछले डेढ़ साल से फरार चल रहा था। पुलिस ने आरोपी को रिमांड में लेकर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।
कोतवाली डोईवाला में 16 सितंबर 2022 को सुनील शर्मा निवासी कालसी ने शिकायत दर्ज कराई थी कि वीरेंद्र गौतम निवासी डोईवाला ने पीड़ित और अन्य लोगों को एम्स ऋषिकेश में नौकरी दिलाने के नाम पर 36 लाख रुपए ठग लिए हैं। पीड़ित की तहरीर के आधार पर डोईवाला कोतवाली में वीरेंद्र के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। मुकदमा दर्ज होने के बाद आरोपी वीरेंद्र पिछले डेढ़ साल से फरार चल रहा था। जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार संभावित ठिकानों में दबिश दे रही थी। लेकिन आरोपी लगातार ठिकाने बदल कर अपनी गिरफ्तारी से बच रहा था। आरोपी के लगातार फरार होने के कारण देहरादून पुलिस ने आरोपी पर 10 हजार रुपए इनाम भी रखा था।
एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि अगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सभी थाना प्रभारियों को फरार और इनामी अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए अभियान चलाकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। निर्देशों के तहत एसओजी देहरादून की टीम ने कोतवाली डोईवाला में दर्ज मुकदमे में फरार चल रहे आरोपी वीरेंद्र गौतम के संबंध में जानकारी हासिल की। सर्विलांस के जरिए पता चला कि आरोपी वर्तमान में तिहाड़ गांव, दिल्ली में छिपा हुआ है। जानकारी पर एसओजी और डोईवाला पुलिस ने तुरंत रिस्पॉन्स करते हुए आरोपी को गिरफ्तार किया। पुलिस द्वारा आरोपी को न्यायालय में रिमांड के लिए पेश किया गया। अदालत ने उसे जेल भेजने का आदेश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *