Mon. Mar 4th, 2024

जिल्दों के साथ छेडछाड कर अभिलेखो की कूटरचना करने का आरोप

देहरादून। फर्जी रजिस्ट्री घोटाले में शामिल 12वें आरोपी को पुलिस ने सहारनपुर से गिरफ्तार कर उसको न्यायालय में पेश किया जहां से उसको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।
मिली जानकारी के अनुसार 15 जुलाई को संदीप श्रीवास्तव सहायक महानिरीक्षक निबंधन देहरादून व जिलाधिकारी की ओर से गठित समिति की जांच रिपोर्ट बाबत अज्ञात आरोपियो की मिलीभगत से धोखाधड़ी की नियत से आपराधिक षडयंत्र रचकर उप निबंधक कार्यालय प्रथम द्वितीय में भिन्न-भिन्न भूमि विक्रय विलेख से संबंधित धारित जिल्दों के साथ छेडछाड कर अभिलेखो की कूटरचना करना के संबंध में दी गयी, तहरीर के आधार पर कोतवाली नगर में मुकदमा दर्ज किया गया। प्रकरण की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक यातायात सर्वेश कुमार की अध्यक्षता में एसआईटी टीम का गठन किया गया। टीम द्वारा रिंग रोड से संबंधित 30 से अधिक रजिस्ट्रियों का अध्ययन कर सभी लोगों से पूछताछ की तथा इस मामले में पुलिस की ओर से कई लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जो वर्तमान में न्यायिक अभिरक्षा में जिला कारागार में निरुद्ध है। इन लोगों से विस्तृत पूछताछ में कई अन्य लोगों के नाम भी प्रकाश में आए थे। पूर्व में गिरफ्तार आरोपियों के बयानों/साक्ष्यों के आधार पर प्रकाश में आया कि मूल विलेखों की हूबहू नकल कर फर्जी विलेख तैयार करने का काम केपी द्वारा महेश चन्द उर्फ छोटा पंडित निवासी पुष्पाजली बिहार जनता रोड सहारनपुर से कराया जाता था। जिस पर पुलिस टीम की ओर से सहारनपुर से महेश चंद उर्फ छोटा पंडित को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने उसको न्यायालय में पेश किया जहां से उसको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

नकुड स्थित केपी के घर पर तैयार किए जाते थे नकजी दस्तावेज

पूछताछ में यह बात प्रकाश में आई कि आरोपी महेश चन्द उर्फ छोटा पण्डित वर्ष 2014 तक कंवरपाल सिंह उर्फ केपी के यहां हल्दी व जड़ी- बूटी के कारोबार में मुशी का काम करता था। आरोपी महेश चन्द ने पूछताछ में बताया कि केपी ने उनको एक बही जैसा रजिस्टर लाकर दिया, जिसकी हूबहू नकल करने को कहा गया जो नवादा में मित्तल, रायपुर में इन्द्रावती तथा जाखन में स्वरूप रानी आदि की जमीनों से संबंधित लेख थे। आरोपी महेश चन्द व स्व. मांगे राम द्वारा केपी की बतायी विषय वस्तु लिखकर फर्जी विलेख तैयार किए गए। इसी प्रकार करीब 4-5 बैनामे देहरादून स्थित भूमि संबंधी तैयार किए गए थे जो नकुड स्थित केपी के घर पर रहकर तैयार किए जाते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *